Kanpur Quotes in Hindi | Kanpur Shayari

Kanpur Quotes in Hindi

जहाँ गीत – गजलें साथ में सब को सुनाई दे,

कानपुर नगर जिला मजहब से परे मुझको दिखाई दे।

 

सुगन्धित इत्र और कानपुर नगर जिला से मित्र,

बड़े किस्मत वालों को ही मिलते हैं।

 

चलो लाज्मी था तेरे शहर कानपुर नगर आना,

कुछ सीखा हो या ना सीखा हो पर संभलना जरूर सीख लिया।

 

कानपुर नगर की गलियों में मैंने अपने जीवन को संवारा हैं,

बड़े दिन से जमे हो तुम वहाँ, क्या हाल तुम्हारा हैं।

 

हम कानपुर नगर के वासी हैं,

बदला नहीं लेते, बदल जाते हैं।

 

दूसरे शहरों में:- तू जानता है मेरा बाप कौन है…?

कानपुर नगर में:- तोहू के मारब तोरे बापो के…

नही त भाग जा इहा से…

Kanpur Quotes in Hindi | Kanpuriya Shayari in Hindi

 

भाई साहब कानपुर नगर के लोग, परिवार के लिए जान दे सकते है,

पर देहाती रसगुल्ला में हिस्सा बिलकुल नही😆😆

 

दाल भात खा कर दोपहर में मगरमच्छ की तरह सोना,

ये हर कानपुर नगर वालों के खून में पाया जाता है।

 

कन्नौज जिला में रहकर अगर बन्दूक के साथ फोटो नहीं खिचाई,

तो बाबा तुम्हारा कानपुर नगर में रहना व्यर्थ हो गया।

 

तेरा हाथ थाम कर कानपुर नगर की राहों पर चलना चाहता हूं?

फिर खुशी मिले या दुख ये मेरा नसीब हैं।

 

ज़िक्र ए चाय हो….और लब खामोश रहें??

क्या बात करते हो जनाब😅 कानपुर नगर की पहचान है ये😉

 

हो गए मजबूर दाने दाने के लिए,

चार कंधे भी नहीं मिले अर्थी उठाने के लिए,

छोड़ कर आए थे जो कानपुर नगर को पिछड़ा बोल कर

आज तड़प रहे हैं कानपुर नगर जिला जाने के लिए।

Kanpur Quotes in Hindi | Kanpuriya Shayari in Hindi

जहाँ सीधे-सादे लोगो का है डेरा,

खुशहाली से भरा वो कानपुर नगर मेरा हैं।

 

कानपुर नगर में, पैसे से जेब हल्की और दिल के लोग बड़े होते है,

गैरों के मुसीबत में भी अपनों की तरह खड़े होते है।

 

माना शहर में तुम्हारा वो तरक्की वाला मकान है,

मगर कानपुर नगर में गरीबों के जीवन में भी सुकून और शान है।

 

खुदा से ही इतनी ताकत पाते है,

कानपुर नगर वाले हर मुसीबत से लड़ जाते है।

 

जो लोग दिल्ली की दवा से ठीक नही हो पाते है,

वो लोग अक्सर कानपुर नगर की हवा से ठीक हो जाते है।

 

दिल खुश हो जाता है कानपुर नगर के मेले में,

ख़ुशी का पता ही नही शहर के झमेले में।

 

जो कल तक टूटा सा था वो जुड़ रहा है,

अब जाकर विकास कानपुर नगर की ओर मुड़ रहा है।

 

मेरी शहर सी ज़िंदगी में,

वो एक कानपुर नगर सी है।

शांत, स्वच्छ और मासूम।

 

कानपुर नगर और शहर के लोगों में

उतना ही अंतर होता है

जितना धरती और गमले में

उगे हुए पौधे में होता है।

Kanpur Quotes in Hindi | Kanpuriya Shayari in Hindi

People Also Like –

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *